Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay

जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय: Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay, Jaishankar Prasad Biography

Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay: जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय बायोग्राफी, जीवनी, निबंध,अनमोल विचार, राजनितिक विचार, जयंती, शिक्षा, धर्म, जाति, मृत्यु कब हुई थी, शायरी, आत्मकथा Jaishankar Prasad (Tulsidas Biography uotes, Biography in Hindi) Jaishankar Prasad (Jeevan Parichay, Jayanti, Speech, History, University, Quotes, Caste, Religion) | Jaishankar Prasad ki jivani in Hindi | Jaishankar Prasad ki jivani in Hindi | jaishankar prasad ka jivan parichay aur unki rachnaye |

aishankar Prasad Ka Jivan Parichay: आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय जो कि आपको बहुत ही आसान भाषा में समझ में आ जाएगा और आप जिस चीज का जानकारी लेने आए आपको सारी जानकारी इस आर्टिकल में मिल जाएगा तो इस आर्टिकल को आप पूरा जरूर पढ़ें

प्रश्न पर क्लिक करें और उत्तर पर जाएं

जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय: Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay

Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay:

नाम Nameजयशंकर प्रसाद (Jaishankar Prasad)
जन्म Birth30 जनवरी 1889, बनारस, उत्तर प्रदेश, भारत
मृत्यु death15 नवम्बर 1937, बनारस, उत्तर प्रदेश, भारत
जीवनकाल Life span47 वर्ष
कहानियाँ Storiesआंधी, आकाशदीप, चित्र मंदिर, संदेश, इंद्रजाल, प्रतिध्वनि, आदि।
उपन्यास Novelतितली, कंकाल, इरावती, आदि।
नाटक playस्कंदगुप्त, चंद्रगुप्त, ध्रुवस्वामिनी, एक घूंट, जन्मजय का यज्ञ, राज्यश्री आदि।
कविताएँ poemsकानन कुसुम, आंसू, आत्मकथ्य, कामायनी, झरना आदि।
प्रसिद्धि का कारण cause of fameलेखक, कवि, उपन्यासकार
पिता fatherदेवी प्रसाद साहू
माता Mother—-

जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय हिंदी में

Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay: जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय आसान भाषा में जयशंकर प्रसाद छायावाद के प्रवर्तक महा कवि जयशंकर प्रसाद का जन्म काशी के अत्यंत प्रतिष्ठित सुगनी साहू के वैश्य परिवार में 30 जनवरी 1889 ईस्वी में हुआ था इनके दादा जी का नाम शिवरत्न साहू और पिता का नाम देवी प्रसाद साहू था माता का माता पिता के देहांत बाद अल्प आयु में होने के कारण परिवार का उत्तर दायित्व बहन करना पड़ा बनवास के क्वींस कॉलेज में मात्र आठवीं तक की शिक्षा प्राप्त की अपने पैतृक कार्यों को करते हुए भी इन्होंने अपने भीतर काफी प्रेरणा को जीवित रखा जो कि 15 नवंबर 1937 को काशी में इनकी स्वर्गवास हो गई

जयशंकर प्रसाद का साहित्यिक परिचय

Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay: जयशंकर प्रसाद किताबी में प्रेम और सौंदर्य प्रमुख विषय रहा साथ ही इनका दृष्टिकोण भी मानवतावादी है इन्होंने कुल 67 रचनाएं प्रस्तुत की है यह नागरी रचा ली सभा के उपाध्यक्ष भी रहे अपने उत्कृष्ट लेखक के लिए इन्हें अपनी रचना कामिनी पर मंगल प्रसाद परित सोहित से सम्मानित किया जो किए किया जयशंकर प्रसाद बहुत ही अच्छे कवि के नाम से भी जाने जाते हैं इन्होंने बहुत अच्छी अच्छी रचनाएं भी लिखी है जो कि आपको सभी रचनाएं आपको पढ़ने में मजा आएगा

जयशंकर प्रसाद का कृतियां

Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay:

काव्य संग्रहजयशंकर प्रसाद का कृतियां – झरना, आंसू, लहार, कामिनी, चित्रधार, प्रेम, पथिक, कानन, कुसुम आदि
नाटकचंद्रगुप्त, स्कंद गुप्त, ध्रुवस्वामिनी, जन्मेजय, नागयज्ञ, रात्रि अजातशत्रु, पर याद चरित आदि
उपन्यासकंकाल, तितली, रावती (अपूर्णरचना)
कहानी संग्रहप्रतिध्वनि, छाया, आकाशदीप, आंधी आदि
निबंध संग्रहकाव्य और कला

जयशंकर प्रसाद का भाषा शैली

Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay: जयशंकर प्रसाद का भाषा शैली इनकी प्रारंभिक रचना ब्रजभाषा में है बाद की रचनाएं संस्कृत निष्ठा खड़ी बोली है उनकी शैली पदबंध तथा मुक्त दोनों प्रकार की शैली है जो किया जयशंकर प्रसाद यह बहुत अच्छे कभी भी है

जयशंकर प्रसाद का हिंदी साहित्य में स्थान

Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay: जयशंकर प्रसाद का भाषा शैली इनकी प्रारंभिक रचना ब्रजभाषा में है बाद की रचनाएं संस्कृत निष्ठा खड़ी बोली है उनकी शैली पदबंध तथा मुक्त दोनों प्रकार की शैली है जो किया जयशंकर प्रसाद यह बहुत अच्छे कभी भी है

इन्हें भी पढ़ सकते हैं

यह टिकल आपको कैसा लगा जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय आपको बहुत ही आसान भाषा में समझ में आ गया होगा और आप जो भी जानकारी लेना चाहते होंगे आपको सारी जानकारी मिल गया होगा अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आए तो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हैं ताकि वह भी इसका जानकारी ले सकें धन्यवाद

Follow ME

YouTubeClick
InstagramClick
TwitterClick
FaceBookClick

जयशंकर प्रसाद से (FAQ) जुड़ी हिंदी में

Q :- जयशंकर प्रसाद का कहानियां कौन-कौन सी है

Ans :- आंधी, आकाशदीप, चित्र मंदिर, संदेश, इंद्रजाल, प्रतिध्वनि, आदि।

Q :- जयशंकर का प्रसाद का उपन्यास कौन कौन सा है

Ans :- तितली, कंकाल, इरावती, आदि।

Q :- जयशंकर प्रसाद का नाटक कौन कौन सा है

Ans :- स्कंदगुप्त, चंद्रगुप्त, ध्रुवस्वामिनी, एक घूंट, जन्मजय का यज्ञ, राज्यश्री आदि।

Q :- जयशंकर प्रसाद का कविताएं कौन कौन सा है

Ans :- कानन कुसुम, आंसू, आत्मकथ्य, कामायनी, झरना आदि।

Q :- जयशंकर प्रसाद का प्रसिद्ध कारण कौन कौन सा है

Ans :- लेखक, कवि, उपन्यासकार

Q :- जयशंकर प्रसाद के पिता का क्या नाम है

Ans :- देवी प्रसाद साहू

Q :- जयशंकर प्रसाद का जन्म कब हुआ था

Ans :- 30 जनवरी 1889

Q :- जयशंकर प्रसाद का जन्म कहां हुआ था

Ans :- बनारस, उत्तर प्रदेश, भारत

Q :- जयशंकर प्रसाद का मृत्यु कब हुआ था

Ans :- 15 नवम्बर 1937

Q :- जयशंकर प्रसाद का मृत्यु कहां हुआ था

Ans :- बनारस, उत्तर प्रदेश, भारत

Leave a Comment

Your email address will not be published.