bheemrav ambedkar ka jivan parichay hindi mein

डॉ भीमराव अम्बेडकर का जीवन परिचय: bheemrav ambedkar ka jivan parichay hindi mein

bheemrav ambedkar ka jivan parichay hindi mein: इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि डॉक्टर भीमराव अंबेडकर का पूरी जीवन परिचय बताएंगे और साथ-साथ उसका जन्म बताएंगे भीमराव अंबेडकर का विचार पूरी जानकारी हिंदी में देंगे इस आर्टिकल का पूरा जरूर पढ़ें

डॉ भीमराव अम्बेडकर का जीवन परिचय

Biography of Dr. Bhimrao Ambedkar: भारत को संविधान देने वाले महान नेता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 ईसवी में हुआ था इसका जन्म मध्य प्रदेश के एक छोटे से गांव में हुआ था डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के पिता का नाम राम जी मालू जी सतपाल और माता का नाम भीमाबाई था अपने माता-पिता की 14वी संतान के रूप में जन्मे में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर का जन्म जात प्रतिभा संपन्न हुए थे

भीमराव अंबेडकर का जन्म महा जाति में हुआ था जिसे लोग और छूट और बेहद निचला वर्ग मानते थे बचपन में भीमराव अंबेडकर के परिवार के साथ सामाजिक और आर्थिक रूप से गहरा भेदभाव किया जाता था भीमराव अंबेडकर के बचपन का नाम राम जी एक पाल था अंबेडकर के पूर्वज लंबे समय तक ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना में कार्य करता था और उनके पिता ब्रिटिश भारतीय सेना की मऊ छावनी में सेना में थे भीम राव के पिता हमेशा ही अपने बच्चों की शिक्षा पर जोर देते थे

1894 में भीमराव अंबेडकर जी के पिता सेवानिवृत्त हो गए और इसके 2 साल बाद अंबेडकर की मां की मृत्यु हो गई बच्चों की देखभाल उसकी चाची ने कठिन परिस्थिति करते हुए कि अपने भाइयों और बहनों में केवल अंबेडकर ही स्कूल परीक्षा में सफल हुए इसके बाद बड़े स्कूल में जाने में सफल हुए अपने एक ब्राह्मण शिक्षक महादेव अंबेडकर जो उसने विशेष स्नेह रखते थे उसके कहने पर अंबेडकर ने आपने नाम से सकपल हटाकर अंबेडकर जोड़ दिया जो की उसके गॉव के नाम पर आधारित थे

8 अगस्त 1930 ईस्वी को एक शोषित वर्ग के सम्मेलन के दौरान अंबेडकर ने अपनी राजनीतिक दृष्टि को दुनिया के सामने रखा जिसके अनुसार शोषित वर्ग की सुरक्षा उसकी सरकार और कांग्रेस दोनों से स्वतंत्र होने में है अपने विचार और गांधी और कांग्रेस की कटु आलोचना के बावजूद अंबेडकर की प्रतिष्ठा एक अद्वितीय विद्वान और विविध नेता की थी जिसके कारण जब 15 अगस्त 1947 में भारत की स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस के नेतृत्व वाली नई सरकार अस्तित्व में आई तो उसने अंबेडकर को देश का पहला कानून मंत्री के रूप में सेवा करने के लिए आमंत्रित किया जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया 29 अगस्त 1947 को अंबेडकर को स्वतंत्र भारत के नए संविधान की रचना के लिए के लिए बनी संविधान मसौदा समिति के अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया गया

Biography of Dr. Bhimrao Ambedkar: डॉक्टर भीमराव अंबेडकर का जीवन परिचय

नाम (Name)डॉ. भीमराव रामजी अंबेडकर
(Bhimrao Ramji Ambedkar)
जन्म (Birthday)14 अप्रैल, 1891 (Ambedkar Jayanti)
जन्मस्थान (Birthplace)महू, इंदौर, मध्यप्रदेश
पिता (Father Name)रामजी मालोजी सकपाल
माता (Mother Name)भीमाबाई मुबारदकर
जीवनसाथी (Wife Name)पहला विवाह– रामाबाई अम्बेडकर (1906-1935);
दूसरा विवाह– सविता अम्बेडकर (1948-1956)
शिक्षा (Education)एलफिंस्टन हाई स्कूल, बॉम्बे विश्वविद्यालय,
1915 में एम. ए. (अर्थशास्त्र)।
1916 में कोलंबिया विश्वविद्यालय से PHD।
1921 में मास्टर ऑफ सायन्स।
1923 में डॉक्टर ऑफ सायन्स।
संघसमता सैनिक दल
स्वतंत्र श्रम पार्टी
अनुसूचित जाति संघ
राजनीतिक विचारधारासमानता
प्रकाशनअछूत और अस्पृश्यता पर निबंध जाति का विनाश(द एन्नीहिलेशन ऑफ कास्ट)
वीजा की प्रतीक्षा (वेटिंग फॉर ए वीजा)
मृत्यु (Death)6 दिसंबर, 1956

14 अक्टूबर 1956 को नागपुर में अंबेडकर ने खुद और उनके समर्थकों के लिए एक औपचारिक सार्वजनिक समारोह का आयोजन किया अंबेडकर ने प्रारंभिक तरीके से तीन रत्न ग्रहण और पंचशील को अपनाते हुए बौद्ध धर्म को ग्रहण किया

1940 से अंबेडकर मधुमेह से पीड़ित है जून से अक्टूबर 1954 तक वह बहुत बीमार रहे इस दौरान वे काफी कमजोर हो गए जिसके बाद 6 दिसंबर 1956 ईस्वी को अंबेडकर की मृत्यु हो गई

Bihar Board Inter 2nd Merit List 2022:

BSEB Matric Dummy Registration Card 2023

Q :- भीमराव अंबेडकर का जन्म कब हुआ था

Ans :- 14 अप्रैल, 1891

Q :- डॉक्टर भीमराव अंबेडकर का मृत्यु कब हुआ था

Ans :- 6 दिसंबर, 1956

Q :- डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के माता का क्या नाम था

Ans :- भीमाबाई मुबारदकर

Q :- डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के पिता का क्या नाम था

Ans :- रामजी मालोजी सकपाल

Leave a Comment

Your email address will not be published.