mahakavi bhushan ka jivan parichay

महाकवि भूषण का जीवन परिचय: mahakavi bhushan ka jivan parichay, Biography of Mahakavi Bhushan

mahakavi bhushan ka jivan parichay: बायोग्राफी, जीवनी, निबंध,अनमोल विचार, राजनितिक विचार, जयंती, शिक्षा, धर्म, जाति, मृत्यु कब हुई थी, शायरी, आत्मकथा | महाकवि भूषण का जीवन परिचय | Biography of Mahakavi Bhushan | महाकवि भूषण की रचना है | भारत भूषण का जीवन परिचय

mahakavi bhushan ka jivan parichay: इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे महाकवि भूषण का जीवन परिचय जो कि आपको बहुत ही आसान भाषा में समझ में आ जाएगा और आप जो भी जानकारी इस क्या लेने के लिए आए हैं आपको सारी जानकारी मिल जाएगा तो इस आर्टिकल को आप पूरा लास्ट तक जरूर पढ़ें

महाकवि भूषण का जीवन परिचय: mahakavi bhushan ka jivan parichay

Biography of Mahakavi Bhushan:

बिंदु (Points)जानकारी (Information)
नाम (Name)शिवराज भूषण
उपनामकवि भूषण
जन्म (Date of Birth)1613
आयु92 वर्ष
जन्म स्थान (Birth Place)कानपुर, उत्तरप्रदेश
पिता का नाम (Father Name)ज्ञात नहीं
माता का नाम (Mother Name)ज्ञात नहीं
लेखनब्रजभाषा, वीर रस कवि
पेशा (Occupation )लेखक, कवि
बच्चे (Children)ज्ञात नहीं
मृत्यु (Death)1705
मृत्यु स्थान (Death Place)—-
भाई-बहन (Siblings)दो भाई
अवार्ड (Award)ज्ञात नहीं

महाकवि भूषण का जीवन परिचय: mahakavi bhushan ka jivan parichay

mahakavi bhushan ka jivan parichay: महाकवि भूषण वीर रस के सर्वश्रेष्ठ कवि भूषण का जन्म 1613 ईस्वी में उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में श्री विक्रमपुर नामक गांव में हुआ था और इनके पिता का नाम रत्नाकर त्रिपाठी था हिंदी के प्रसिद्ध कवि चिंतामणि त्रिपाठी और मतिराम इनके भाई थे चित्रकूट के राजा रूद्र देवी ने इसकी काफी प्रतिभा से प्रभावित होकर इन्हें कवि भूषण की उपाधि से भी अलंकृत किया छत्रपति महाराजा शिवाजी और बुंदेला राजा छत्रसाल इसके आश्रित आता राजा था इनकी जीवन लीला का अवसान 1715 के लगभग में हुआ था

महाकवि भूषण का साहित्यिक परिचय

Biography of Mahakavi Bhushan: महाकवि भूषण राष्ट्रीय भावनाओं की सशक्त अभिव्यक्ति इनके दूसरे बड़ी विशेषता तीर रस अद्भुत व्यंजना है इनके काव्य की सबसे बड़ी विशेषता रही है इनके काव्य की दूसरी बड़ी विशेषता वीर रस की अद्भुत व्यंजना हैं इस कारण इन्हें हिंदी साहित्य का प्रथम राष्ट्रीय कवि कहा जा सकता है और विलासिता के युग के लोगों को मानव में सुप्त राष्ट्रीयता की भावना को जागत करके वीरता के भावनाओं का संचार करने के लिए यह प्रशंसा के पात्र हैं जो कि यह कवि भूषण जो है इसे महाकवि भूषण के नाम से भी जाना जाता है

महाकवि भूषण का कृतियां

महाकवि भूषण की कृतियां शिवराज भूषण, शिवा बांधनी, छत्रसाल दशक आदि

महाकवि भूषण का भाषा शैली

महाकवि भूषण की भाषा शैली जो भूषण जी की कविता की मुख्यता भाषा ब्रज भाषा है साथ ही प्रकृति बुंदेलखंडी और खड़ी बोली के शब्दों का प्रयोग किया गया है इनके का बिक्री उपयुक्त वर्णन शैली मौजूद है जो कि आप इसका जानकारी लेना चाहते हैं तो आप ऊपर इसकी सारी जानकारी ले सकते हैं

महाकवि भूषण का हिंदी साहित्य में स्थान

mahakavi bhushan ka jivan parichay: महाकवि भूषण भूषण जी का साहित्य हवाओं के कारण इन्हें रीतिकाल के कवियों में एक विशेष ध्यान प्रदान किया गया है

महाकवि भूषण का जीवन परिचय हिंदी में

mahakavi bhushan ka jivan parichay: कवि भूषण का जीवन परिचय इससे महाकवि भी के नाम से भी जाना जाता है और इसका उपनाम शिवराज भूषण है कवि भूषण है और इसका जन्म 1613 ईस्वी में कानपुर के उत्तर प्रदेश में हुआ था इनके पिता का नाम या लेखक ब्रजभाषा वीर रस के कवि है इसके दो भाई भी थे और इसका मृत्यु 93 इयर्स में हो गया था इसका पैसा लेखक और कवि थे

रहीम दास का जीवन परिचय: 

सुमित्रानंदन पंत का जीवन परिचय: 

सूरदास का जीवन परिचय: 

तुलसीदास का जीवन परिचय निबंध जयंती: 

डॉ भीमराव अम्बेडकर का जीवन परिचय

महादेवी वर्मा का जीवन परिचय:

कबीर दास का जीवन परिचय

मीराबाई का जीवन परिचय

आर्टिकल आपको कैसा लगा महाकवि भूषण का जो भी जानकारी आप लेना चाहते थे आप सारी जानकारी ले लिए होंगे अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आए तो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हैं ताकि वह भी इसके बारे में जानकारी ले सके धन्यवाद

महाकवि भूषण से जुड़ी (FAQ) हिंदी में

Q :- भूषण का वास्तविक नाम क्या है?

Ans :- कवि भूषण

Q :- भूषण का जन्म कब हुआ था?

Ans :- 1613

Q :- भूषण का जन्म कहाँ हुआ?

Ans :- कानपुर, उत्तरप्रदेश

Q :- भूषण की कास्ट क्या है?

Ans :-  वैश्य (बनिया)

Leave a Comment

Your email address will not be published.